Friday, November 18, 2011

शब्द रस

आकाश एक दम नीला था
पत्ते बिलकुल पीले
सुखी काली सी टहनियां
और भूरे लालरंग की युक्लिप्तुस की डाल
उर्धव्गति में जाती हुई

और दाहिने कान में कौवे की काव - काव
दूर उड़ता गेस्ट हाउस की और कबूतर की आवाज
बाएं कान के पास कबूतरी की आवाज
मेरे एकांत मन में एक छवि उकेर रही थी ।

और मैं एक महाकवि सा
कुछ पुराने शब्द जोड़ रहा था ।
ये पल सिर्फ -
हवा में डोलता एक पंख बता सकता है
पंखुड़ियों में बैठा भौंरा बता सकता है
घांसों पर बैठे ओश ही बता सकते हैं

मैं तो बस गौण हूँ
शब्द अपने में कुछ रस घोल रहे थे...

- साहेब राम टुडू 

Moti gire the

कुछ मोती गिरे थे घांस पर 
कुछ बदल  घिरे थे आकाश में 
कुछ खाली पल थे 
बिताने के लिए अपने पास में। 

पंछी  ने कहा कुछ गाकर 
चील ने कहा चीत्कार कर 
तोते ने कुछ मिठास घोले 
कुछ मय थे अपने पास में 


dhundlati si ek yad
jo aab ekant ke pedon tale
patjhad ke saman jhad-jhad gir rahe the
kuch sunhale se yaden hain batash me.

kuch dhundli si padi hui parchhaiyon me
kuchh log hain
khali bag me ek khali kursi
baiti hai aaj bhi
laut aane ke meri aas me.

or ye chamakte sunhale moti
surya sarikhe mor ne chug liye
or aaj bhi main baitha hun us ped ke tale
kuch yadon ke pile patton ko liye karpas me...

Friday, November 11, 2011

Thursday, November 10, 2011

kundankari

Wednesday, November 9, 2011

15000 B C की बात है । एक आदिमानव अपनी प्रेमिका को याद कर रहा है। प़र इन दोनों के प्रेम कहानी का विल्लैन है लड़की का बाप। और प्रेमी प्रेमिका से मिलने के लिए इतना व्याकुल हुआ कि उसने उसके लिए सन्देश भेजा । मगर ये सन्देश जिसको नहीं पहुंचना था उसी को मिला।

(प्रेमी का आवाज लड़की के बाप सो सुने देता है- "लीलू लीलू "..
इसके बाद लड़की का बाप भी लड़की के आवाज में प्रेमी को पुकारता है-" राजू.. राजू "...)
और प्रेमी गलत आवाज को प्रेमिका का आवाज समझ दोड़ पड़ा । और जो हुआ वो इतिहास हो गया ।

Message undelivered
Love lost.

14oo AD मजनू अपने लैला को लव लैटर भेजा। मगर रस्ते में ....

Message sending failed
Love failed.

2011 A D ब्रोअद्बेन्द , इन्टरनेट, मोबाइल फ़ोन, आइपेद , अस ऍम अस , ऍम ऍम अस , विडियो चेट, फेशबुक , ऑरकुट, ट्विट्टर...
अभी मीना टीना जीना सबको सिर्फ एक क्लिक में सबको मेसेज ...
Long live love
Long live technology.

Friday, November 4, 2011

santal hero

from true grid

donot miss me

Cats

Landscape

Terracotta Horse of NID

Village near Swaminarayan temple

Jassy

Bull

Terracotta sculpture

Wednesday, November 2, 2011

Resume

Resume


Name: Saheb Ram Tudu
Date of Birth: 15th January 1984
Place of Birth: Bhurkundabari, Purulia, West Bengal
Educational
Qualification: NET, Sculpture, 2008
Animation film design, Post-graduate Diploma programme in design,
National Institute of Design, Paldi, Ahmedabad, India, 2008-2010
Master in Fine Arts, Gold Medal, Sculpture, Banaras Hindu University,
U.P. 2006-08

Participations: Unni (Short animation Film), Official selection in Anifest India, 2010
The Animation Society of India, India
27th State Lalit Kala Academy Art Exhibition, U.P. 2007-08
Inter University East zone, youth festival, Clay modeling, Manipur University,
Canchipur-2004-05
Ahmadabad International Arts Festival, 2011

Yatra , Jaipur International Film Festival, 2011, Jaipur
ASIFA India, 2011

Films: Short Animations Films

1. Unni, Clay Animation
2.
Dhawani, Clay on glass
3. Arth, Stop-motion
4. Themb, Pixilation
5. And the World will Live as One, (3D and 2D animation)
6. Yatra, Sand Animation
7. Agni, Sand Animation
8. Naayo (Woman), Diploma Animation Film

Awards: ASIFA 2010 Award in the best stop motion film in student category, 2010
CG TANTRA 2010 Award,
CHITRAKATHA 2011 Award, National Institute of Design, Paldi, Ahmedabad.

Honors: M.F.A., Annual Art Exhibition, Faculty of visual Art, Banaras Hindu University,
U.P. 2006-08

Scholarship: BFA , MFA, Merit Scholarship, Faculty of Visual Arts,
Banaras Hindu University,
U.P.2002-08

Interests: Documentary Film Making, Illustrations, Graphic-novel, Story-writing, Storyboarding, Poetry ( Hindi, Santali) Clay Modeling, Wood Carving, Stone carving, Fiber Glass and Mixed media Sculpture.


Permanent Add: Saheb Ram Tudu
S/O- Pran krishna Tudu
Vill+Post- Damodarpur,
Dist+P.S.- Dhanbad
Jharkhand-826004

Present Add: 1247, Purbachal main road,
Near Telephone Exchange, Haltu
Kolkata-West Bengal
Mob-8481815594

E-mail Add: tudusaheb98@gmail.com


Blog: www.tudusaheb.blogspot.com

showreel

रस्ते

कई रस्ते बदले
कई मंजिलें बदली
कई मकाने बदले
कई झरोखे बदली ।

पर दिल में एक ही
इरादा रहा
जो कि मेरी कभी नहीं बदली

वक्त बदली
खवाहिशें बदली
जरूरतें बदली
सामान बदली

पर एक चीज है जो
हमेसा साथ रहा
वो थी तेरी याद, नहीं बदली

सुबह बदली
शाम बदली
मौसम बदली
रातें बदली।

पर कुछ खुशियाँ थी
दी हुई तुम्हारी
वो कभी नहीं बदली।

दुकान बदला
दफ्तर बदले
गाड़ी बदली
मैंने चश्मा भी बदला

पर नजर मेरी
कभी नहीं बदली।